ह्रदय


ह्रदय Heart

ह्रदय – मानव ह्रदय पेशियों से मिलकर बना है | ह्रदय बंद मुट्ठी के आकार का होता है | यह दोहरी भित्ति के झिल्ली युक्त आवरण से घिरा होता है जिसे ह्रदयावरण कहते है | मानव ह्रदय चार कोष्ठों में बंटा होता है | उपर दो कोष्ठ आलिन्द कहलाते है व नीचे के दो कोष्ठ निलय कहलाते है | बांये आलिन्द व बांये निलय के बीच द्विनली कपाट तथा दाये  आलिन्द व दाये निलय के मध्य त्रिवनली    कपाट पाए जाते है | ये कपाट रुधिर को विपरीत दिशा में बहने  से रोकते है | कपाट के खुलने व बंद होने से लव-डब की आवाज उत्पन्न होती  है जिसे धड़कन कहते है |



ह्रदय Heart

ह्रदय Heart

रुधिर वाहिकाए :-

 धमनी 

 शिरा 

1. इसमें शुद्ध रुधिर बहता है जबकि फुफ्फुस धमनी में अशुद्ध रुधिर बहता है |  जबकि इसमें अशुद्ध रुधिर बहता है जबकि इसमे फुफ्फुस धमनी में शुद्ध रुधिर बहता है |
2. इनकी भित्ति मोटी व लचीली होती है |  इसकी भित्ति पतली होती है |
 3. इसमें रुधिर ह्रदय से अंगो की और बहता है | जबकि इसमें रुधिर अंगो से ह्रदय की और बहता है |
 4. इसमें रुधिर दाब अधिक होता है | इसमें रुधिर दाब कम होता है |
 5. इनका रंग लाल होता है |  इनका रंग हरा व नीला होता है |





Science Notes के अपडेटेड लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वाईन करे | Click Now