झुंझनु


झुंझनु

  • पंचपाना – शार्दुलसिंह की मृत्यु के बाद उसके पांच पुत्रो में बराबर बाँट लिया गया जो पंचपानाकहलाया |
  • पंचपाणे – बिलाऊ, डूडलोद, मलसीसर, मंडावा तथा नवल गढ़ को कहा जाता है |
  • महणसर – यह स्थान भित्ति की स्वर्णिम पॉलिस के लिए प्रसिद्द है | यहाँ पोद्दारो की सोने से निर्मित दुकान है | यह तोलाराम मस्खरा का महफ़िल खाना हिया |
  • गणेश नायारण जी – चिडावा निवासी एवं बावलिया बाबा के नाम से विख्यात उपनाम- शेखावाटी के साईं बाबा |
  • मंसूरी पैसों की गढाई की टकसाल – सूरजगढ़ में स्थित है |
  • झुंझनुवाला परिवार – सूरजगढ़ के इस प्रसिद्ध परिवार ने सूरजगढ़ में शिक्षा की ज्योति प्रज्ज्वलित की |
  • इतिहास अनुसन्धान गृह – झामरमल शर्मा द्वारा झुंझनु में स्थापित |